बहुत महत्वपूर्ण बात, आज की रात और कल की प्रभात के लिए …

कोरोना की वजह से सम्पूर्ण दुनिया सकते में है। इसलिए आने वाले दिन हमारे स्वास्थ्य के हिसाब से निर्णायक सिद्ध होने वाले हैं।

इसलिए कृपया आज रात को सोते समय अपना स्वर दांया RIGHT  करके सोएं ताकि कल सवेरे प्रभातकाल में जागरण के समय स्वर बांया LEFT  रहे और बांये स्वर में ही हम उठें।

कल चैत्र शुक्ल प्रतिपदा के दिन हमारा स्वर यदि बांया LEFT होगा तो यह स्पष्ट मानकर चलें कि आने वाला एक माह हम स्वास्थ्य की दृष्टि से ठीक रहेंगे और कोरोना का कोई असर हम पर नहीं होगा, और न ही शरीर को और कोई व्याधि होगी।

इसलिए स्वर का ध्यान रखें।

रात को सोते समय स्वर दांया RIGHT करके सोएं। यदि दांया नहीं हो रहा हो तो कुछ मिनट बांयी LEFT करवट लेट लें, अपने आप दांया RIGHT होने लगेगा।

यह ध्यान रखें कि कल जागरण वेला में हमारा स्वर बांया LEFT  होना चाहिए।

बिस्तर से जमीन पर उतरते वक्त स्वर देख लें यदि बांया LEFT ही है तो पहले बांया LEFT पांव जमीन पर रखें, इसके बाद अपने दांये RIGHT  पांव को बांये पांव से मिलाएं और इसके बाद बांया LEFT पांव आगे रख कर आगे बढ़ जाएं। यानि की सीधी सी बात यह है कि बिस्तर त्यागते वक्त हमारा बांया LEFT  पांव दो बार आगे निकलेगा।

यदि नींद त्यागने के समय बांया LEFT स्वर न हो तो कुछ मिनट दांयी RIGHT करवट सो जाएं, इससे कुछ समय में ही स्वर बांया LEFT हो जाएगा। स्वर बांया LEFT होने के बाद ही बिस्तर त्यागें।

शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा के दिन स्वर बांया LEFT  होने पर महीने भर स्वास्थ्य का पाया मजबूत रहता है। इसलिए प्रयत्नपूर्वक ध्यान दें।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *