अस्पताल परिसरों में तुलसी वन विकसित हो

सभी प्रकार के अस्पताल परिसरों में तुलसी वन विकसित किया जाना चाहिए। इससे नकारात्मकता और कीटाणुओं के संक्रमण का खतरा कम या समाप्त हो सकता है तथा सकारात्मकता का ग्राफ निरन्तर बढ़ता रहेगा। इस अनुकूल स्थिति का फायदा न केवल मरीजों और उनके साथ आने वालों को बल्कि स्टाफ को भी होगा। डॉक्टरों, स्वास्थ्यकर्मियों और सभी संबंधित अधिकारियों-कार्मिकों में सकारात्मक विचारों का पल्लवन और सुदृढ़ीकरण होगा, इसका लाभ अन्ततः समाज, क्षेत्र एवं देश को ही प्राप्त होगा। इसके लिए तुलसी के महत्व के बारे में सभी को समझाने के लिए विशेष प्रयास होने चाहिएं। फिर तुलसी के पौधों से अस्पतालों का वास्तुदोष भी समाप्त हो सकेगा।  इसके अलावा मनोवृत्ति में परिवर्तन आएगा, सेवा-परोपकार, अपरिग्रह, मानवता की सेवा आदि के भाव भी जगेंगे, जिनकी कि आज बहुत अधिक आवश्यकता है।