सरकारी स्कूल की इस टीचर ने कमाल कर दिया …

सरकारी स्कूलों से बच्चों को जोड़कर बेहतर शिक्षा-दीक्षा के संकल्पों को साकार करने के प्रण को लेकर इस सरकारी स्कूल टीचर ने जो कुछ कर दिखाया है और कर रही हैं, वह अपने आप में अद्भुत और सराहनीय प्रयास है जिसका अनुकरण अन्यों को भी करना चाहिए।

कक्षा कक्ष और स्कूल परिसरों की रोजमर्रा की रूटीन सामान्य गतिविधियों के दायरों से ऊपर उठकर शिक्षा और समाज के उत्थान का बीड़ा उठाते हुए इस शिक्षिका ने ऎसा कुछ कर दिखाया है कि जिससे सभी के मुँह से निकल ही उठता है – वाह-वाह, क्या कमाल कर दिया है बैंजी ने।

राजस्थान के जनजाति बहुल बांसवाड़ा जिले के घाटोल परिक्षेत्र अन्तर्गत कुंवानिय ग्राम पंचायत के हेरपाड़ा गांव के राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय की इस शिक्षिका का नाम है – श्रीमती उषा पण्ड्या। 

बहुआयामी व्यक्तित्व और रचनात्मक कर्मयोग की धनी श्रीमती पण्ड्या औरों की तरह बंधे-बंधाये ढर्रो और दायरों में बंधी न होकर समाज और शिक्षा जगत के लिए बहुत कुछ ऎसा कर रही हैं जिन्हें देख कर लगता है कि शिक्षक राष्ट्र निर्माता है और वह चाह ले तो देश की दशा और दिशा बदलकर धरती पर स्वर्ग ला सकता है। 

यह संभव है कि परम्परागत दायरों में कैद रहने वालों के लिए इस तरह के प्रयोग असहनीय होने के कारण बाधाओं और संघर्षों के दौर दर दौर से साक्षात होना पड़ना स्वाभाविक है किन्तु श्रीमती पण्ड्या ने जज्बे को दाद देनी पड़ेगी, जिन्होंने सारे अवरोधों और बीच-बीच में आए स्पीड़ ब्रेकरों को चुनौती के रूप में लिया और एक के बाद एक इतने सारे नवाचारों को जमीन दे डाली कि अब हर कोई उनकी प्रतिभा का कायल हुए बिना नहीं रह पाता।

अध्यापन की सामान्य धाराओं में प्रावीण्य को लोहा मनवाने वाली उषा पण्ड्या कल्पनाशील प्रयोगधर्मा शिक्षिका हैं और नवाचारों के क्षेत्र में अर्से से काम करते हुए शैक्षिक नवाचारों और अभिनव प्रयोगों के प्रति उनका समर्पण देखने और अनुकरणीय करने लायक है।

सरकारी स्कूलों में नामांकन बढ़ाने के लिहाज से हाल ही उनके द्वारा सृजित यह वीडियो शासकीय स्कूलों की महत्ता, उनकी खासियत, पढ़ाई-लिखाई आदि के स्तर के साथ ही सरकारी स्कूलों के प्रति बच्चों और उनके अभिभावकों का आकर्षण जगाने में अहम् भूमिका निभा रहा है।

इस  वीडियो के माध्यम से उन्होंने बच्चों के मुँह से अभिभावकों के लिए अपील करवाई है जिसमें सरकारी स्कूलों में दाखिला दिलवाने का विनम्र आग्रह किया गया है। वीडियो में सटीक शब्द, हृदयस्पन्दनी वाक्यों, ध्वनि और पात्रों का संयोजन, प्रचार-प्रसार की दृष्टि से प्रभावोत्पादक संगीत व स्वर लहरियों का समायोजन बड़ा ही सुन्दर बन पड़ा है। अब तक हजारों कद्रदान इस वीडियो की मुक्त कण्ठ से सराहना कर चुके हैं।

ठेठ ग्रामीण परिवेश वाले जनजाति बहुल क्षेत्र की मामूली सी सरकारी स्कूल की नवाचारी शिक्षिका के प्रयासों को आप भी देखें-सुनें। आनंद के साथ लयात्मक संदेश को सुनकर आप भी कह उठेंगे – वाह वाह।

2 thoughts on “सरकारी स्कूल की इस टीचर ने कमाल कर दिया …

  1. वाह शानदार!!उत्तम प्रयास!!उन्हें बधाई व आपको साधुवाद

Leave a Reply to Neeta Choubisa Cancel reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *