इस तरह होती थीं चुनावी तैयारियां

वह भी एक दौर था जब चुनावी मतगणना के परिणाम प्रदर्शन के लिए बोर्ड्स तैयार कर लगाए जाते थे। इसी तरह का उपक्रम 2004 में लोकसभा चुनाव के दौरान किया गया। उन दिनों डूंगरपुर पदस्थापन के दौरान तत्कालीन जिला कलक्टर श्री सुबीर कुमार ने किया तैयारियों का अवलोकन। अग्रजों और अनुजों की टीम की बदौलत हर काम यादगार रहा। सर्वश्री योगेश पण्ड्या, नमामीशंकर जोशी, वीरेन्द्रसिंह बेड़सा, प्रद्युम्ननाथ भट्ट, राकेशबहादुर माथुर आदि का सहयोग अविस्मरणीय है। कर्म के प्रति निष्काम समर्पण और निष्ठा हो तो दुनिया का कोई काम मुश्किल नहीं है। हर काम को लाभ-हानि और स्वार्थ की गणित से परे रहकर किया जाए तो आशातीत सफलता भी प्राप्त होती है और यादगार श्रेय भी।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *