गौदुग्ध का ही प्रयोग होना चाहिए …

20160228183531वे सारे शिवभक्त ढोंगी, पाखण्डी और धूर्त हैं जो गौमाता के दूध की बजाय दूसरे पशुओं के और कृत्रिम दूध से शिवलिंग पर अभिषेक करते हैं। शिवलिंग और दैवप्रतिमाओं पर केवल और केवल गौदुग्ध का ही प्रयोग
धर्म सम्मत है। हमारे देश के लोभी-लालची और धुतारे बाबाओं, महंतों और पण्डितों की यह कमी रही है जो कि जनता को धर्म और सत्य का ज्ञान नहीं दे पा रहे हैं, केवल अपने भोग-विलास, सम्पत्ति अर्जन और शिष्यों की संख्या बढ़ाकर अपनी प्रतिष्ठा पाने पर तुले हुए हैं। उन अनुष्ठानों को कोई अर्थ नहीं है जिनमें देशी गौदुग्ध का प्रयोग नहीं होता। यह केवल आडम्बर हैं और लोगों को दिखाने के लिए ही हैं। भगवान उल्टे ऎसे कामों से कुपित होकर अनिष्ट देता है।