महाशिवरात्रि दे रही यही संदेश …

भगवान भोलेनाथ  को पाने के लिए प्रकृति पूजा से बढ़कर कोई दूसरा सहज मार्ग नहीं है। शिव वहीं बिराजते हैं जहाँ प्रकृति के सभी पंच तत्व भरपूर उपलब्ध हों। शिव को हरियाली और पानी पसंद है। इसके लिए मुख्यमंत्री जल स्वावलम्बन अभियान में आत्मीय भागीदारी से बढ़कर और कुछ हो ही नहीं सकता, जिससे कि शिव को प्रसन्न किया जा सके। आईये हम सब मिलकर महाशिवरात्रि पर जल संरक्षण का संकल्प लें और शिव को प्रतिष्ठित करने लायक भावभूमि का सृजन करने में भागीदार बनें। हर-हर महादेव।