धर्म चर्चा – पूजा-अनुष्ठान में वर्जित है लूंगी

बहुत से लोग पूजा-अनुष्ठान करते हैं तब धोती या पीताम्बर को लूंगी की तरह पहनते हैं। ऎसा करना वर्जित है। लूंगी पहन कर की जाने वाली पूजा का कोई फल प्राप्त नहीं होता। ऎसे लोग पिशाच योनि को प्राप्त होते हैं। धोती या पीताम्बर पहनें तब बीच में लांघ होना जरूरी है।  इसी प्रकार पालथी मारकर पूजा कर सकते हैं लेकिन एक पांव पर दूसरा पांव चढ़ाकर बैठना वर्जित है।