ज्योतिष चर्चा – कैसे रहेंगे आने वाले छह माह

22 दिसम्बर की प्रभात बताएगी – छह माह का भविष्य

बुधवार शाम सायन में मकर का सूर्य आ जाने के बाद से ही उत्तरायण में रवि की गति आरंभ हो गई है। इस दृष्टि से 22 दिसम्बर 2016 गुरुवार की प्रभात मकर के सूर्य में होगी। स्वरोदय विज्ञान के अनुसार यदि जीवात्मा का जागरण गुरुवार सवेरे सूर्य यानि की दांये (राईट) स्वर में होता है अर्थात प्रभात में जागरण वेला में यदि हम दाहिने स्वर में उठें तो उत्तरायण के पूरे छह माह अच्छे से व्यतीत होते हैं, हमारा सब कुछ ठीक ढंग से होगा और आने वाले छह माह बढ़िया रहेंगे। कल कृष्ण पक्ष की नवमी तिथि है और तिथि का निर्धारित स्वर दाहिना है। इसके साथ ही गुरुवार का संयोग है इसलिए पुरुषवार भी है। तिथि और वार दोनों का स्वर दाहिना है। अतः गुरुवार को उठते समय प्रयत्नपूर्वक अपनी नासिका का दाहिना स्वर चलाएं और उसी में शैय्या का त्याग करें। बिस्तर छोड़ते वक्त सबसे पहले दाहिना पांव आगे रखें और आगे बढ़ जाएं। इससे आने वाले छह माह खुशी-खुशी निकलते हैं, हमारी दुर्घटना या मृत्यु की भी कोई संभावना नहीं रहती। इसी प्रक्रिया को मकर संक्रान्ति के दिन भी कर लिया जाए तो अच्छा रहता है।

कहा भी गया है – कर्के चन्द्रा मकरे भानु, जनम-मरण का प्रश्न है जानू।