हम ही हैं सबसे बड़े आतंकवादी

जरा सोचें कि भगवान द्वारा दी गई बुद्धि का हम कितना इस्तेमाल करते हैं। हम सारे भेड़ों की रेवड़ों या भीड़ का हिस्सा होकर रह…

गधों से भी गए-बीते हैं हम …

वर्तमान युग में खच्चर अपने आपको घोड़े मान रहे हैं और घोड़े खुद को हाथियों से कम नहीं समझ रहे। ऊपर से मरियल टट्टूओं और…

दीवाली की राम-राम

दीवाली आयी नहीं कि राम-राम शुरू हो जाती है। धनतेरस से लेकर दीपावली तक सब तरफ शुभकामनाओं और बधाइयों के दौर चलते रहते हैं।  सभी…