HOME

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी से एक विनम्र आग्रह

इंजीनियरिंग और मेडिकल कॉलेजों में पढ़ने वाले सभी प्रशिक्षणार्थियों को यह सुविधा दी जानी चाहिए कि वे यदि अपने संस्थान की व्यवस्था और प्रशिक्षण से सन्तुष्ट नहीं हैं तो बीच में ही छोड़ कर देश में किसी भी जगह दूसरे संस्थान में उसी कक्षा/कोर्स में प्रवेश पा सकते हैं। सभी प्रकार का शुल्क, छात्रावासी शुल्क आदि का बकाया पैसा प्रशिक्षणार्थी ... Read More »

यही है रहस्य सुख-दुःख का

सब लोग सुख चाहते हैं, दुःखी रहना कोई नहीं चाहता। लेकिन जो पूर्वजन्मार्जित पाप-पुण्य हैं वे दुःख और सुख के रूप में आते-जाते रहते हैं। नियति के इस चक्र से कोई नहीं बच सकता।  असल में न कोई सुख है, न कोई दुःख। यह मन की अवस्थाएं हैं जो किसी के लिए अनुकूल हुआ करती हैं और किसी के लिए ... Read More »

उदयपुर विकास का प्रवाह होगा तीव्रतर

लोक कल्याण और विकास की घोषणाएं देंगी तरक्की को रफ्तार राज्य सरकार की विभिन्न योजनाओं और कार्यक्रमों के सार्थक क्रियान्वयन की बदौलत निरन्तर विकास की डगर पर गतिमान उदयपुर जिले की बहुआयामी तरक्की निरन्तर जारी है। राज्य सरकार की इस बार की बजट घोषणाओं से जिले की वैकासिक गतिविधियों को और अधिक रफ्तार के साथ ही सर्वांगीण विकास को सुनहरी दशा ... Read More »

निष्काम सेवा का अविरल बहता झरना है सेवाभारती

मानव सेवा ही प्रभु सेवा है। इस भाव को धारण करते हुए जो कुछ सेवा की जाती है उसे ही असली और निष्काम सेवा कहा जाता है। और इस सेवा को ही वास्तव में सेवा-परोपकार कहा जा सकता है। भारतवर्ष में लोक सेवा और परोपकार की इसी आदि परंपरा को निर्वाह करते हुए आज भी कई संस्थाएं हैं जो इन ... Read More »

सेहत संरक्षण सरोकारों का कमाल मेडिकल हब बन रहा राजस्थान

आम जन से लेकर प्रदेश भर की सेहत सँवारने की दिशा में राजस्थान सरकार की बहुद्देशीय योजनाएं वरदान साबित हो रही हैं। राज्य सरकार ने आम जन के कल्याण और सामाजिक सरोकारों के बखूबी निर्वहन की दिशा में ऎतिहासिक पहल करते हुए लोक स्वास्थ्य रक्षा के बहुआयामी संकल्पों को मूर्त रूप प्रदान करने में कोई कोर कसर बाकी नहीं रखी ... Read More »

निकम्मे ही कोसते हैं भगवान या भाग्य को

जब भी कोई अच्छा सुकून देने वाला कुछ होता है हम छूटते ही कह दिया करते हैं हमारी मेहनत का परिणाम है। तब हम न भाग्य को याद करते हैं, न भगवान को। लेकिन जब कभी बुरा लगता है तब भाग्य को भी कोसते हैं और भगवान को भी नहीं छोड़ते।अधिकांश लोगों की पूरी जिन्दगी इसी आदत में निकल जाती ... Read More »

स्त्री मात्र को है पूजा का पूर्ण अधिकार

स्त्री मात्र को पूजा का पूरा अधिकार है। चाहे वह शिवलिंग की पूजा हो या फिर किसी और देवी या देवता की। जो लोग स्ति्रयों को शिवलिंग या किसी भी देवी-देवता के मन्दिर में गर्भ गृह में जाने से रोकते हैं वे धर्म के मूल तत्व से अनभिज्ञ, पाखण्डी और धूर्त होते हैं, इन लोगों के जीवन से धर्म बाहर ... Read More »

यक्ष प्रश्न – कहाँ गायब हो गए खटमल ?

क्या ग़ज़ब हो गया है। अब खटमल कहीं दिखते नहीं, गायब हो गए हैं। कुछ दशक पहले तक लोग परेशान हुआ करते थे खटमलों से, खटमलों को मारते-मारते तंग आ जाते थे फिर भी साले कपड़ों, खटिया, कुर्सी-टेबल, सोफों और दूसरे कोनों में दुबके रहते और मौका हाथ लगते ही खून चूस लिया करते थे। शरीर पर लाल उभार भरा ... Read More »

श्री पूर्णाशंकर पण्ड्या का महाप्रयाण

आदर्श कर्मयोगी की अपूरणीय क्षति   शुक्रवार शाम का एक समाचार शोक संतप्त कर गया। समाचार मिला – शिक्षाविद् श्री पूर्णाशंकर पण्ड्या नहीं रहे।  शिक्षा, समाजसेवा, धार्मिक गतिविधियों और जन कल्याण से लेकर इंसानियत के हर मोर्चे पर उनका योगदान किसी न किसी रूप में रहा है।    अस्सी वर्षीय पूर्णाशंकर पण्ड्या समााजिक सेवा कार्यों में हमेशा अग्रणी रहे। दो ... Read More »

इंसान हैं, इंसान बनें रहें

इंसान की तरह जियें इंसान होना अपने आप में परमात्मा की परम कृपा है, मनुष्य भगवान का अंश है और उसे उसी मौलिकता में इंसानी गर्व के साथ जीना चाहिए। लेकिन बहुत से लोग अपने आपको इंसान की बजाय छोटी-मोटी गुमटी, कियोस्क या दुकान के रूप में स्थापित कर लिया करते हैं और मरते दम तक धंधेबाजी में रमे रहते ... Read More »