यही है पाप-पुण्य

पाप और पुण्य ऎसे शाश्वत शब्द हैं जिन्हें हर इंसान किसी न किसी रूप में अपने जीवन में अहम स्थान देता ही है। भले ही…

खाली हाथ ही जाना है

वो जमाना चला गया जब पहले तुम-पहले तुम जैसी बातें तरन्नुम में गायी भी जाती थीं और इसका लोक जीवन में अनुसरण भी होता था। …

सरलता अपनाएँ, सहजता लाएँ

बहुद्देशीय प्रतिस्पर्धा और तेज रफ्तार भरे इस युग में दूसरी सारी बातों से कहीं अधिक जरूरी है जिन्दगी को आसान बनाना। हम सभी का जीवन…

कब मरेंगे ये ?

हर तरफ लोग किसी न किसी से परेशान हैं। कोई किसी वाजिब कारण से परेशान है, कोई बिना वजह किसी न किसी से परेशान है।…

कछुआ छाप गधे

काम के न काज के, ढाई मन अनाज के कोई लाख कोशिश कर लें, कछुओं पर क्या असर पड़ने वाला है। छोटे दिमाग और मोटी…