इनका सब कुछ है मैला और मलीन

कोई कितना ही साँवला या गोरा हो, दिखने में कितना ही सुन्दर और आकर्षक हो।  अपने आपको आकर्षक दिखने-दिखाने के लाख जतन करता है, यह…

कच्चा चबा जाएगी ये भूख

दुनिया में आने वाला हर इंसान संसार को कुछ न कुछ देने के लिए आता है। इस दृष्टि से हर  मनुष्य का फर्ज है कि…

अपने आपको देखें

बिना मांगे राय और उलाहना देने वालों, बुराई और निन्दा करने वालों, हर काम में अपनी टांग फँसाने वालों से लेकर आधी रोटी में दाल…

याचक न बने रहें

मनुष्य ईश्वर का अंश है और उस पर ईश्वर को भी गर्व है। लेकिन यही मनुष्य अपनी हरकतों से ऎसा कुछ कर डालता है कि…

कारोबारी सेवा से दूर रहें

सेवा के खूब सारे प्रकार है जिनकी गणना नहीं की जा सकती। सेवा अपने आपमें ऎसा शब्द है जिसका संबंध स्वेच्छा और हृदय के भावों…

मौत का आह्वान फिर-फिर

शीर्षक भयभीत करने वाला भी है, चौंकाने वाला भी, और कई प्रश्न खड़े कर देने वाला भी। लेकिन पूरा का पूरा युगीन सच भी है…