झूठी तारीफ न करें, न सुनें

अपने बारे में दूसरों को बताना उन्हीं को पड़ता है जिनकी अपनी कोई सुगंध नहीं होती। वरना इंसान कोई सा अच्छा कर्म करता है तो…

किया सो काम, भजा सो राम

आदमी की आधी से ज्यादा जिंदगी इन चिंताओं में गुजर जाती है कि उसके सोचे हुए काम पूरे नहीं हुए और समय बीतता चला जा…

एक ही हो ईष्ट

अपने आपको परम धार्मिक, साधक और सिद्ध मनवाने के फेर में कहें या अपनी ढेर सारी अलग-अलग प्रकार की इच्छाओं की पूर्ति के लिए, हम…

आओ आत्महत्या करें

हमें अभीप्सित होना चाहिए अमरत्व प्राप्ति के लिए। प्रयास करना चाहिए दीर्घ और यशस्वी जीवन का। लेकिनहम हैं कि सब कुछ जानते-समझते हुए भी इन्दि्रयों…

किस काम के हैं ये मुर्दे

काम कोई सा हो, अपना हो या पराया। हर काम की पूर्णता के लिए जरूरी है जिन्दा लोगों की मौजूदगी। जो लोग जिन्दे हैं वे…

एक ही हो ईष्ट

अपने आपको परम धार्मिक, साधक और सिद्ध मनवाने के फेर में कहें या अपनी ढेर सारी अलग-अलग प्रकार की इच्छाओं की पूत्रि्त के लिए,  हम…