दुष्टों को न दें आश्रय-प्रश्रय

जब से समाज में अच्छे-बुरे के मूल्यांकन की दृष्टि प्रदूषित हो गई है तभी से बुराइयों और बुरे लोगों को प्रोत्साहन, आदर-सम्मान और श्रद्धा प्राप्त…

परिश्रम ही है सबसे बड़ा अनुष्ठान

अपने आपको धार्मिक या धर्मान्ध कहने वाले लोगों की कई श्रेणियाँ हैं जो धार्मिक होने या कहलवाने के मोहजाल में फंसे हुए जाने क्या-क्या नहीं…

एकतरफा सोच त्यागें

हर संबंध की बुनियाद दो तरफा धाराओं का मिश्रण है। दो ध्रुवों के बीच निरन्तर संवाद सातत्य और एक-दूसरे की दिली भावनाओं को समझकर ही…

बेकार है ये सारी धन-दौलत

दीपावली चली गई, और इसके साथ जुड़े दूसरे त्योहार भी जाने लगे हैं। खूब जतन किए हमने, लक्ष्मी मैया को अपने घर-द्वार के बाड़ों से…