बगलामुखी साधना को अपनाएं, निश्चिन्त जिन्दगी पाएं …

बगलामुखी साधना को अपनाएं, निश्चिन्त जिन्दगी पाएं …

भ्रष्ट, दुष्ट, शोषकों, अत्याचारियों, दुराचारियों, अहंकारियों और पापियों से तंग आ गए हों तो

किसी श्रेष्ठ और सिद्ध गुरु से दीक्षा प्राप्त कर बगलामुखी उपासना को आरंभ कर दें।

मामूली साधना से थोड़े ही दिनों में शत्रुओं का अपने आप ऎसा ईलाज हो जाएगा कि सब लोग देखते रह जाएंगे।

पर शर्त यही है कि बगलामुखी साधना वे ही लोग करें जो पवित्र और निर्मल चित्त वाले हों। यह साधना सज्जनों के लिए है, अपराधियों, बेईमानों, भ्रष्टाचारियों, रिश्वतखोरों और स्वाभिमानहीन लोगों के लिए नहीं है।