कर्ज उतारें इनका

हमें उसी के प्रति वफादार और जवाबदेह होना चाहिए जिसने हमें बनाया है और दायित्व सौंपे हैं। पहला तो है वह विधाता ईश्वर जिसने हमें…

पल्ला झाड़ो, मौज करो

एक समय वह था जब लोग खुद आगे चलकर अपनी रुचि का कोई सा काम हाथ में लेते थे और पूरा करके ही दम लेते…

ईश्वरीय संकेतों पर अमल करें

मनुष्य ईश्वर का ही अंश है और इसलिए परस्पर सीधा संबंध रहता आया है। ईश्वरीय रश्मियाँ और संकेत प्रत्येक मनुष्य तक पहुंचती जरूर हैं लेकिन…

यह भी हिंसा ही है ..

हिंसा का यही मतलब नहीं है कि किसी की हत्या कर देना या हिंसक प्रवृत्तियों में लगे रहना। हिंसा का संबंध हिंसक मानसिकता और क्रूर…

पालतू हैं या फालतू ?

मनुष्य के रूप में परिपूर्णता पाने वाले लोगों के लक्षण पालने से ही दिखने शुरू हो जाते हैं और इसी प्रकार उन लोगों के भी…

संस्कार ही हैं सब कुछ

जीवन के निर्माण में संस्कारों और आदर्शों का जितना महत्त्व है उतना किसी और का नहीं। अपनी  आनुवंशिक परंपरा और पूर्वजों से प्राप्त संस्कारों के…